Current Affairs 16-17 March 2018

  1. प्रधान मंत्री ने इम्फाल में 105वें भारतीय विज्ञान सम्मेलन का उद्घाटन किया

मणिपुर के इम्फाल में प्रधान मंत्री मोदी ने 105वें भारतीय विज्ञान सम्मेलन का उद्घाटन किया. आईएससी 2018 का विषय 'reaching the unreached through science and technology' है. यह  कार्यक्रम मणिपुर में पहली बार और उत्तर-पूर्व में दूसरी बार आयोजित किया जा रहा है. इससे पहले यह 2009 में शिलांग में आयोजित किया गया था. इस 5 दिवसीय सम्मेलन में देश-विदेश के विभिन्न हिस्सों के वैज्ञानिक, विद्वान और कॉरपोरेट अधिकारियों सहित करीब 5,000 से अधिक प्रतिनिधियों को संबोधित भी किया जाएगा.

  1. आंध्र प्रदेश वैश्विक बहुआयामी गरीबी सूचकांक में 51वें स्थान पर

हाल ही में राज्य में किए गए घरेलू सर्वेक्षण के अनुसार, मल्टीडीमेन्शनल पावर्टी इंडेक्स(2017) में आंध्र प्रदेश, विश्व स्तर पर 51 वीं रैंक के समकक्ष है. राज्य और जिला स्तर पर गरीबी का अनुमान लागाने के लिय सर्वेक्षण करने वाला आंध्र प्रदेश पहला भारतीय राज्य बन गया. आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने आंध्र प्रदेशमल्टीडीमेन्शनल पावर्टी इंडेक्स(2017) रिपोर्ट जारी की. रिपोर्ट के अनुसार आंध्र प्रदेश में 0.0825 का सूचकांक मूल्य है, जबकि भारत 0.1911 के सूचकांक मूल्य के साथ 66 वें स्थान पर हैयह अध्ययन विजन मैनेजमेंट यूनिट, प्लानिंग डिपार्टमेंट, GoAP द्वारा ऑक्सफोर्ड पॉवर्टी एंड ह्यूमन डेवलपमेंट इनिशिएटिव (ओपीएचआई), ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी, ब्रिटेन के सहयोग से किया गया था.

  1. डब्लूएचओ सदस्य-देशों ने 2030 तक टीबी समाप्त करने की प्रतिबद्धता दिखाई

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के सभी दक्षिण-पूर्वी एशिया क्षेत्र जिसमें भारत भी शामिल है के सदस्य देशों ने 2030 तक टीबी को पूरी तरह से खत्म करने के लिए अपने प्रयासों को तेज करने की प्रतिबद्धता दिखाई है. इसके अलावा सितंबर 2018 में टीबी पर संयुक्त राष्ट्र की उच्च स्तरीय बैठक होने जा रही है जिसमें इस मुद्दे पर राज्य स्तर के प्रमुखों से चर्चा की जाएगी.संयुक्त राष्ट्र की बैठक में टीबी को समाप्त करने हेतु दुनिया को निस्तारण करने के लिए लक्ष्यों के एक सेट का समर्थन करने की संभावना है. 

  1. ओकलाहोमा बना मृत्‍युदंड के लिए नाइट्रोजन गैस का इस्‍तेमाल करने वाला पहला अमेरिकी राज्य

अमेरिका के ओकलाहोमा प्रांत में अपराधियों को मौत की सजा देने के लिए अब नाइट्रोजन गैस का इस्तेमाल किया जाएगा. अमेरिका में मौत की सजा देने का यह अपनी तरह का पहला तरीका होगा. वैसे ओकलाहोमा को मौत की सजा देने के लिए जहरीले इंजेक्शन में प्रयोग की जाने वाली दवाएं नहीं मिलने के कारण यह निर्णय लेना पड़ा है.  नाइट्रोजन एक गंधहीन और स्वादहीन गैस है. हम जो सांस लेते हैं उसमें करीब 78 फीसद नाइट्रोजन गैस होती है. लेकिन ऑक्सीजन के बिना यह जानलेवा होती है. ओकलाहोमा में 2015 से किसी भी कैदी को जानलेवा इंजेक्शन नहीं दिया गया है.

  1. फ़रवरी में निर्यात 4.5%की वृद्धि से $25.8 अरब तक पहुँचा

फरवरी-2018 में भारत का निर्यात 4.5% बढ़कर 25.8 अरब डॉलर रहा. फरवरी-2017 में इसी अवधि के दौरान यह 24.7 अरब डॉलर था. यह घोषणा वाणिज्य सचिव रीता तेवतिया ने की थी. चालू वित्त वर्ष की अप्रैल से फरवरी की अवधि के दौरान, निर्यात में 11% की वृद्धि हुई जो कि 273 अरब डॉलर थी. रवरी महीने में होने वाला आयात 37.8 बिलियन डॉलर रहा है जो कि 10.4 फीसद का उछाल है.

  1. जीएसटी, विश्व में दूसरा उच्चतम कर दर: विश्व बैंक की रिपोर्ट

विश्व बैंक की रिपोर्ट के मुताबिक,वस्तु एवं सेवाकर (GST)​​​​​15 देशों के मुकाबले दूसरी उच्चतम कर दर है और एशिया में सबसे अधिक के साथ सबसे जटिल में से एक है जिनके पास एक समान अप्रत्यक्ष कर प्रणाली है.  भारत की जीएसटी संरचना में 0, 5%, 12%, 18% और 28% की पांच दरो में वर्गीकृत है. इसके अलावा, विभिन्न छूट दिए जाने वाली बिक्री और निर्यात शून्य-रेट पर किए गए हैं, जो निर्यातकों को इनपुट पर भुगतान किए गए करों के लिए धन वापसी का दावा करने की अनुमति देता है. दुनिया भर के 49 देशों में जीएसटी का एक सिंगल स्लैब है, जबकि 28 देश टू-स्लैब का उपयोग करते हैं, और भारत सहित केवल पांच देशों में चार नॉन जीरोस्लैब का उपयोग किया जाता है

  1. मुंबई में प्‍लास्टिक और थर्माकोल बंद

महाराष्ट्र सरकार ने पर्यावरण संरक्षण को देखते हुए बेहद अहम कदम उठाया है. सरकार ने प्लास्टिक और थर्माकोल के प्रयोग पर पूरी तरह से रोक लगा दिया है. यह आदेश रविवार से लागू हो जाएगा. इस बात का ऐलान पर्यावरण मंत्री रामदास कदम ने शुक्रवार को विधान मंडल के सदन में किया. प्लास्टिक से बनाई जाने वाली थैलियों, थर्माकोल और प्लास्टिक से बनने वाली डिस्पोजेबल सामग्री भी इस कानून के दायरे में आएगी. इसमें प्लास्टिक की थाली, कप, प्लेट, ग्लास, कांटा चम्मच, कटोरी, स्ट्रॉ, कटलरी, स्प्रेड शीट्स, प्लास्टिक पाउच के इस्तेमाल पर पूरी तरह बैन लगाया गया है. उन्होंने कहा कि प्लास्टिक के उत्पादन, इस्तेमाल, संग्रह, वितरण, थोक या फुटकर बिक्री, आयात पर संपूर्ण बैन होगा. प्रतिबंधित प्लास्टिक और थर्माकोल का उल्लंघन करने वालों को 3 महीने की जेल और 25 हजार रुपये तक जुर्माने की सजा हो सकती है. इस प्रस्ताव को मंत्रिमंडल ने पहले ही अपनी मंजूरी दे दी थी. पर्यावरण मंत्री रामदास कदम ने शुक्रवार को विधान मंडल के दोनों सदनों में प्लास्टिक और थर्माकोल पर पाबंदी लगाने का ऐलान किया.

 

You are Reading Current Affairs in Hindi